गिरफ्तारी से बचने के लिए ट्रिम करा ली थी दाढ़ी, पुलिस को देखकर निकाली थी पिस्टल

नई दिल्ली.रविवार को पंजाब के नाभा जेल से भागे 6 आरोपियों में से एक खालिस्तानी नेता हरमिंदर मिंटू को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है। सोमवार को दिल्ली पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि मिंटू ने पहचान छुपाने और गिरफ्तारी से बचने के लिए शेव ट्रिम करा ली थी। पुलिस के मुताबिक, वो गोवा भागने की फिराक में था। पुलिस ने जैसे ही उससे बात करने की कोशिश की उसने पिस्टल निकाल ली। हालांकि, स्पेशल सेल ने उसे दबोच लिया। दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल का ऑपरेशन…
 – दिल्ली पुलिस के डीसीपी अरविंद दीप ने बताया, “जेल से भागने के मामले में मिंटू के खिलाफ संबंधित धाराओं में केस दर्ज किए गए हैं।”
– “मिंटू के पास से पिस्टल और 6 कार्टिजेस बरामद किए गए हैं। उससे पूछताछ जारी है और इस आधार पर आगे की जांच की जा रही है। उसके पास से कुछ कैश भी बरामद किया गया है। उसके साथ कश्मीर सिंह और सेखों भी थे। लेकिन दिल्ली आकर ये अलग-अलग हो गए।”
– “मिंटू ने शेविंग ट्रिम करा ली थी, इसलिए उसे पहचानना काफी मुश्किल हो रहा था। वो मुंबई के जरिए गोवा भागने की फिराक में था। क्योंकि उसने पनवेल का टिकल लिया था। स्पेशल सेल ने उसे निजामुद्दीन पार्किंग एरिया से रविवार देर रात अरेस्ट किया। इन्हें पैसा कहां से मिला? इसकी जांच की जा रही है।”
पंजाब और यूपी पुलिस से भी ली मदद
– दीप के मुताबिक, दिल्ली के अलावा यूपी और पंजाब पुलिस भी एक-दूसरे के संपर्क में हैं। कुछ खास जगहों पर तलाशी ली जा रही है। इनमें होटल और गेस्ट हाउस शामिल हैं।
– डीसीपी ने कहा- जेल ब्रेक पूरी तरह से प्लान्ड था। मिंटू इसके मॉड्यूल में शामिल था।
कौन है हरमिंदर मिंटू?
– मिंटू, खालिस्तान लिबरेशन फोर्स (KLF) का चीफ है। पैसे की उगाही, भर्ती और नफरत को फैलाने के लिए केएलएफ इंटरनेट का जमकर इस्तेमाल करता है।
– मिंटू को 2014 में पंजाब पुलिस ने अरेस्ट किया था। आतंक से जुड़े 10 मामलों में उसकी तलाश थी।
– हरमिंदर पर 2008 में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम पर हमले का आरोप है। साथ ही, 2010 में हलवारा एयरफोर्स स्टेशन से एक्सप्लोसिव लूटने का भी आरोप है।
– पंजाब पुलिस के रिकॉर्ड में है कि मिंटू 2010 में कॉन्टैक्ट डेवलप करने के लिए यूरोप गया था। 2013 में उसने यूरोप टूर के लिए पाकिस्तान छोड़ दिया था।
– साउथ-ईस्ट एशिया लौटने से पहले वह इटली, बेल्जियम, जर्मनी, फ्रांस और कई अन्य यूरोपीय देशों में गया था।

बदमाशों को समझा पुलिसकर्मी

– रविवार सुबह करीब 10 बजे 3 कारों में सवार 10 बदमाश फिल्मी स्टाइल में नाभा जेल में घुसे।
– एक सीनियर पुलिस अफसर की मानें तो चकमा देने के लिए हमलावर अपने दो साथियों को हथकड़ी लगाकर लाए थे। वे वर्दी में थे। लिहाजा, जेल ऑफिशियल्स ने समझा कि वे पुलिस के ही लोग हैं।
– जेल में दाखिल होते ही उन्होंने 100 से ज्यादा राउंड गोलियां चलाईं और एक आतंकी समेत 6 कैदियों को छुड़ाकर भाग गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *