ग्लोबल मोदी

नोट बंदी के बाद विश्व  फलक पर  सर्वाधिक साहसी  और  डैशिंग नेता के तौर पर उभारें हैं .ऐसा माना जा रहा है कि एक दक्षिण पंथी नेता ने ऐसा कर दिखाया जो तथाकथित समाजवादी और साम्यवादी नेता करने की हिम्मत नहीं कर सके .चीन की सरकार इस मामले पर अपनी नज़र बनाये हुए है .उसका कहना है कि इस निर्णय की सफलता इस बात पर निर्भर करती है कि लोग इसका कितना समर्थन करते है .इसके परिणाम के बाद चीन भी इस विचार कर सकती है .

mann-ki-baat_650x400_41472363850 इधर टाइमपरसन ऑफ़ ईयर के दौर में मोदी ट्रम्प और पुतिन को पछाड़ते हुए शीर्ष पर बने हुए हैं.नवम्बर के शुरूआती सप्ताह में ये पीछे चल रहे थे . नोत्बदी के फैसले के बाद मोदी की वैश्विक लोकप्रियता में जबरदस्त उछल आया है .पत्रिका के वेबसाइट पर जरी आंकरो के मुताबिक मोदी को पोल में अबतक ११ % जबकिअन्साजे को ९% वोट मिले हैं .ट्रूम और पुतिन को ८% वोट मिले हैं . ज्ञातब्य हो कि “टाइम पर्सन ऑफ़ ईयर “ का फैसला पत्रिका के वरिष्ठ सम्पदाकिए प्रमुख ही करेंगे .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *