मैक्रोन की सख्सियत है कुछ ख़ास …….

macron

PayOffers.in

यूरोप समर्थक इमैनुएल मैक्रोन और मारीन ली पेन फ्रांस के राष्ट्रपति चुनाव के दूसरे दौर में पहुँच गए हैं |सात मई को इन दोनों का आमने – सामने का मुकाबला होगा जिसमे यह तय हो जाएगा कि फ्रांस ने किसे अपना राष्ट्रपति चुना है |वैसे पहले चरण के मतदान में मैक्रोन ने बढ़त बना ली है |उन्हें २३.७५ फीसद वोट मिले हैं जबकि पेन को २१.५३ फीसद |पहले चरण में कुल ११ उम्मीदवार मैदान में थे |फ्रांस की राजनीति में साथ साल से दखल रखने वाले मुख्य दक्षिण पंथी और वाम दलों का कोई भी उम्मीदवार पहली बार मुख्य मुकाबले में नहीं पहुँच सका |पहले चरण के मुकाबलों के बाद फ्रांस में इस बार होने वाले ऐतिहासिक बदलाव की नीव रख दी गई है |यदि ३९ वर्षीय मैक्रोन जीते तो वह फ्रांस के सबसे युवा राष्ट्रपति होंगे ,और यदि पेन जीतीं तो वह अपने देश की पहली महिला राष्ट्रपति होंगी |पेन की उम्र ४८ वर्ष है |वैसे अगर पहले चरण के परिणाम और ताजा सर्वेक्षणों को देखें तो मैक्रोन का जीतना लगभग तय है |उन्हें फिलहाल ३० फीसद की बढ़त हासिल है जो बहुत बड़ी है |मौजूदा राष्ट्रपति ओलांद और कंजरवेटिव तथा सोशलिस्ट पार्टी ने अपनी हार स्वीकार करते हुए मैक्रोन को अपना समर्थन देने की घोषणा की है |ऐसी सूरत में पेन के लिए मैक्रोन से जीत पाना नामुमकिन ही है |देश के पूर्व वित्त मंत्री मैक्रोन ने पिछले साल ही अपनी पार्टी बनाई है |उन्होंने जब राष्ट्रपति पद के लिए अभियान शुरू किया था तो लोगों ने उन्हें नौसिखिया बता कर खारिज कर दिया था लेकिन देखते ही देखते मैक्रोन सबसे आगे निकल गए और अगर कोई अनहोनी न हुई तो सारा संसार उन्हें अगले फ्रांसिसी राष्ट्रपति के रूप में जल्द ही देखेगा |

PayOffers.in

मैक्रोन की सख्सियत बड़ी दिलचस्प है |जब वह महज़ १७ वर्ष के थे तो उन्हें अपने स्कूल में पढ़ाने वाली टीचर से प्यार हो गया |उनका नाम था ब्रिजिट और वो उनसे उम्र में २५ साल बड़ी थीं |पहले तो यह प्यार एकतरफा था लेकिन बाद में ब्रिजिट भी मैक्रोन को प्यार करने लगीं |समस्या यह थी कि वह शादीशुदा थीं और उनके तीन बच्चे भी थे |इन्ही सब बातों को ध्यान में रख कर उन्होंने मैक्रोन को उस वक़्त शादी के लिए मन कर दिया | हालांकि दोनों के दिलों में प्यार बरकरार रहा |मैक्रोन के परिवार को जब इसका पता चला तो उनलोगों ने इस रिश्ते को तोड़ने की काफी कोशिशें की |उन्होंने मैक्रोन को पढने के लिए बहार भी भेज दिया , लेकिन इन दोनों का प्यार फिर भी बना रहा |तमाम उतार -चढाव से गुजरते हुए आखिर इन दोनों ने एक – दूसरे को पा ही लिया |ब्रिजिट ने २००६ में अपने पति को तलाक दे दिया और २००७ में मैक्रोन की जीवनसंगिनी बन गईं |इस वक्त मैक्रोन ३९ वर्ष के हैं और ब्रिजिट ६४ की |भारत होता तो शायद इसी वजह से मैक्रोन चुनाव हार जाते या फिर उनके विरोधी छाती पीट -पीट कर चिल्लाते |लेकिन अच्छी बात है की वह फ्रांस में चुनाव लड़ रहे हैं जहां की संस्कृति अलग है और जहां व्यक्तिगत मामले चुनावी मुद्दे नहीं बनते |हम इतना तो जरूर कहेंगे कि मैक्रोन बचपन से ही धुन के पक्के हैं और जो ठान लेते हैं उसे पूरा करके ही रहते हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *