हरिहरनाथ मुक्तिनाथ सांस्कृतिक यात्रा के अन्तर्राष्ट्रीय आयोजन समिति की बैठक २ अप्रैल को पटना में

gopal_narayan_sing_2876870f

हरिहरनाथ मुक्तिनाथ सांस्कृतिक यात्रा के अन्तर्राष्ट्रीय आयोजन समिति की बैठक २ अप्रैल को पटना में होने जा रही है जिसमे भारत एवं नेपाल के लोगों के शामिल होने की संभावना है .  बैठक में धर्म जागरण समन्वय के क्षेत्र प्रमुख श्री सूबेदार जी भी उपस्थित रहेंगे . बैठक  की अध्यक्षता राज्य सभा सांसद गोपाल नारायण सिंह करेंगे .

हरिहरनाथ मुक्तिनाथ यात्रा इस बार ११ अप्रैल से शुरू होने जा रही है .सोनपुर के गंडक नदी के काली घाट पर इसका उद्घाटन समारोह होगा जिसमे  आर एस  एस  के बालमुकुन्द जी ,राज्य सभा सांसद श्री  आर के सिन्हा ,श्री नन्द कि,शोर यादव एवं अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहेंगे .

ये यात्रा १७ अप्रैल को ख़त्म होगी जब मुक्तिनाथ दर्शन हो जाएगा .यात्रा के दरम्या.बैठक न विभिन्न जगहों पर धर्म सभाओं का आयोजन किया जाएगा जिसमे केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ,रामकृपाल यादव , सांसद संजय जयसवाल ,नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार ,विधान पार्षद नवल किशोर आदि के सम्मिलित होने की सम्भावना है .

मुक्तिनाथ मंदिर के लिए चित्र परिणाम

मुक्तिनाथ मंदिर

मुक्तिनाथ वैष्‍णव संप्रदाय के प्रमुख मंदिरों में से एक है. यह तीर्थस्‍थान शालिग्राम भगवान के लिए प्रसिद्ध है. शालिग्राम दरअसल एक पवित्र पत्‍थर होता है जिसको हिंदू धर्म में पूजनीय माना जाता है. यह मुख्‍य रूप से नेपाल की ओर प्रवाहित होने वाली काली गण्‍डकी नदी में पाया जाता है. जिस क्षेत्र में मुक्तिनाथ स्थित हैं उसको मुक्तिक्षेत्र’ के नाम से जाना जाता हैं.हिंदू धार्मिक मान्‍यताओं के अनुसार यह वह क्षेत्र है, जहां लोगों को मुक्ति या मोक्ष प्राप्‍त होता है. मुक्तिनाथ की यात्रा काफी मुश्किल है. फिर भी हिंदू धर्मावलंबी बड़ी संख्‍या में यहां तीर्थाटन के लिए आते हैं.यात्रा के दौरान हिमालय पर्वत के एक बड़े हिस्‍से को लांघना होता है.यह हिंदू धर्म के दूरस्‍थ तीर्थस्‍थानों में से एक है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *