Deprecated: class-oembed.php is deprecated since version 5.3.0! Use wp-includes/class-wp-oembed.php instead. in /home/viratnews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4967

Deprecated: Function create_function() is deprecated in /home/viratnews/public_html/wp-content/plugins/post-views-stats/cn-post-views-stats.php on line 239
इतिहास/संस्कृति – Virat News

साम्यवाद देश हित में नहीं-अम्बेडकर

जबसे वामपंथियों की जमीन खिसकनी शुरू हुई है तभी से उन्होंने अंबेडकर को वामपंथी साबित करने का प्रयास शुरू कर

Read more

बिरसा मुंडा

भारत एक सनातन धर्मी, वैदिक [वैज्ञानिक] धर्म मानने वाला प्रकृति पूजक  यानी प्रकृति से प्रेम, जीव-जंतु, पशु – पक्षी, नदी, पहाड़ और सभी बनस्पतियो मेंइश्वर को देखता है, यही हमें पश्चिम से अलग करता है,पश्चिम केवल मानवता बिरोधी ही नहीं वह तो प्रकृतिबिरोधी भी है, समय-समय पर इस भारतीय भूमि ने

Read more

मोबाइल नंबरों को आधार से जोड़ने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका

नई दिल्ली :- मोबाइल नंबरों को आधार से  जोड़ने के बारे में दूरसंचार विभाग की अधिसूचना को सुप्रीम कोर्ट में

Read more

गोवर्धन पूजा : इंद्र देवता के घमंड को तोड़ने के लिए श्री कृष्ण ने उठा लिया था पर्वत

गोवर्धन पूजा :- इस पूजा से जुड़ी भगवान कृष्ण की एक कथा है , जिसमें उन्होंने देवता इंद्र के घमंड को

Read more

ताजमहल हमारी सांस्कृतिक विरासत नही, बल्कि इतिहास का हिस्सा है : सुब्रमण्यम स्वामी

यूपी से बीजेपी विधायक संगीत सोम की और से ताजमहल को भारत की संस्कृति पर दाग बताए जाने पर बीजेपी

Read more

खिलजी के हजारों योद्धा मारे गये और खिलजी को भागना पड़ा, लेकिन महल में झूठा संदेश पहुंच गया, शोक में रानियों ने जौहर कर लिया

मेवाड़ की रानी पद्मिनी की ही तरह रतनगढ़ की राजकुमारी को भी अलाउद्दीन खिलजी से अपने सम्मान की रक्षा के

Read more

क्यों विवाहित महिलाएं पहनती है बिछिया

शादी के बाद महिलाएं सोलह श्रृंगार करती है| इन सोलह श्रृंगार के 15 वें पायदान पर पैर की उँगलियों में

Read more

जौहर– भारतीय बलिदान की सर्वोच्च परम्परा—!

 सूबेदार जी की कलम            भारतीय समाज हमेशा स्वाभिमानी रहा है उसने हमेसा त्याग, तपस्या और स्वाभिमान का सर्वोच्च मानदंड

Read more

ज्येष्ठ शुक्ल त्रयोदशी – हिन्दू साम्राज्य दिवस

सन् 1674 में ज्येष्ठ शुक्ल त्रयोदशी को शिवाजी का राज्याभिषेक हुआ था, जिसे आनंदनाम संवत् का नाम दिया गया। महाराष्ट्र

Read more