रद्द होगा तेजप्रताप के पेट्रोलपंप का लाइसेंस

भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन (बीपीसीएल) ने लालू यादव के बेटे व बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव के पटना-अनिसाबाद बाइपास स्थित लारा आटोमोबाइल नाम से आवंटित पेट्रोल पम्प का लाइसेंस रद करने की नोटिस जारी की है। भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने पिछले दिनों तेज प्रताप पर दूसरे के नाम की जमीन के आधार पर फर्जी तरीके से पेट्रोल पम्प आवंटित कराने का आरोप लगाया था।

बीपीसीएल ने डीलरशिप की शर्तों के उल्लंघन के आरोप में तेज प्रताप को थमाई गई नोटिस का पंद्रह दिन में जवाब मांगा है। नोटिस में कहा गया है कि पंद्रह दिनों में जवाब न मिलने पर स्वत: लाइसेंस रद कर दिया जाएगा। बीपीसीएल ने उक्त नोटिस किसी चंद्रशेखर नाम के व्यक्ति की लिखित शिकायत के आधार पर थमाई है।

चंद्रशेखर ने आरोप लगाया है कि इस पेट्रोल पम्प के लिए तेज प्रताप ने 12 जनवरी 2012 को जब आवेदन दिया था तो उस वक्त यह जमीन एके इंफोसिस्टम के पास थी। उस वक्त तेज प्रताप न तो इस कंपनी के शेयर होल्डर थे और न ही इसके डाइरेक्टर। न ही एके इंफोसिस्टम ने उस वक्त इस पेट्रोल पम्प के लिए कोई लीज एग्रीमेंट ही किया था।

बीपीसीएल ने कहा है कि पेट्रोल पम्प की डीलरशिप के लिए एग्रीमेंट की एक शर्त यह थी इसे आप व्यक्तिगत रूप से देखरेख करेंगे और कोई दूसरा रोजगार नहीं करेंगे। दूसरा रोजगार या जिम्मेदारी लेने से पहले डीलरशिप से इस्तीफा दे देंगे।

लेकिन वर्तमान में आप बिहार सरकार में स्वास्थ्य मंत्री का दायित्व संभालने के कारण व्यक्तिगत तौर पर पेट्रोल पम्प के संचालन का काम नहीं कर रहे हैं। ऐसे में क्यों नही समझौते की शर्तों के उल्लंघन के आरोप में लाइसेंस को रद कर दिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *